best true shayari

 

पहाड़ियों की तरह खामोश है आज के संबंध और रिश्ते

जब तक हम न पुकारे उधर से आवाज ही नहीं आती

 

Leave a Reply