valentines day

चलो आज खामोश प्यार को इक नाम दे दें,
अपनी मुहब्बत को इक प्यारा अंज़ाम दे दें
इससे पहले कहीं रूठ न जाएँ मौसम अपने
धड़कते हुए अरमानों एक सुरमई शाम दे दें !

valentines day

कब उनकी पलकों से इज़हार होगा
दिल के किसी कोने में हमारे लिए प्यार होगा
गुज़र रही है हर रात उनकी याद में
कभी तो उनको भी हमारा इंतज़ार होगा

valentines day

प्यार शब्दों का मोहताज नही होता
दिल में हर किसी के राज़ नही होता
क्यों इंतज़ार करते है सभी वैलेंटाइन डे का
क्या साल का हर दिन प्यार का हक़दार नही होता?

valentines day

तेरे हाथ की मैं वो लकीर बन जाऊं,
सिर्फ मैं ही तेरा मुक़दर तेरी तक़दीर बन जाऊं,
मैं तुझे इतना चाहू की तू भूल जाए हर रिश्ता
सिर्फ मैं ही तेरे हर रिश्ते की तस्वीर बन जाऊं,
तू आंखें बंद करे तो आऊं मैं ही नज़र,
इस तरह मैं तेरे हर खवाब की ताबीर बन जाऊ

valentines day

एक आस, एक एहसास, मेरी सोच और बस तुम,
एक सवाल, एक मजाल, तुम्हारा ख़याल और बस तुम,
एक बात, एक शाम, तुम्हारा साथ और बस तुम,
एक दुआ, एक फ़रियाद, तुम्हारी याद और बस तुम,
मेरा जूनून, मेरा सुकून बस तुम और बस तुम

1 2 3 4 5