Romantic Shayari

♥♥ *हाल तो पूछ लू तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,*♥♥

♥♥ *ज़ब ज़ब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है।*♥♥

Romantic Shayari

दिल की हसरत ज़ुबान पे आने लगी
तूने देखा और ज़िंदगी मुस्कुराने लगी
ये इश्क़ की इंतेहा थी या दीवानगी मेरी
हर सूरत मे सूरत तेरी नज़र आने लगी.

Romantic Shayari

*?आँखों में आंसुओं की लकीर बन गई;*
*जैसी चाहिए थी वैसी तकदीर बन गई;*
???
*हमने तो सिर्फ रेत में उंगलियाँ घुमाई थी;*
*गौर से देखा तो आपकी तस्वीर बन गई!?*

1 6 7 8 9 10 15